Pages

Wednesday, 7 February 2018

नवग्रह वृक्ष

ग्रहों और वृक्षों में क्या नाता है ये ना तो मालूम था ना ही कभी जानने की कोशिश की. वृक्ष तो चाहे जैसे भी हों फायदे वाले ही होते हैं. ग्रह की जानकारी तो अखबारी भविष्य फल पढ़ पढ़ कर आ गई थी की नवग्रह होते हैं :
1. सूर्य, 2. चन्द्र, 3. मंगल, 4. बुध, 5. गुरु, 6. शुक्र, 7. शनि, 8. राहू और 9. केतु.

पिछले दिनों मेरठ बाईपास पर सुभारती मेडिकल कॉलेज जाने का मौका मिला. वहां कार पार्किंग में नवग्रह वृक्ष का बोर्ड लगा हुआ था जिस पर नौं पेड़ों के नाम लिखे हुए थे. इनमें से छे तो पहचाने हुए थे पर शमी, पिलखन और लटजीरा का पता नहीं था. आस पास माली या कोई ऐसा व्यक्ति नहीं था जो इनके बारे में बता सके और  पेड़ों पर नाम के बोर्ड भी नहीं लगे थे. खैर इन तीनों को अंदाज़े से ही पहचाना जैसे पिलखन के तने का रंग पीलापन लिए हुए है, लटजीरा के पत्ते बहुत महीन और लटों में हैं और शमी जो कुछ कुछ जामुन की तरह लगा. इस विषय पर इन्टरनेट पर खोज करने की कोशिश की पर पेड़ों के बारे में अलग अलग जवाब मिले. लगता है कि इनका याने नवगृह और उनसे सम्बंधित वृक्षों का कोई मानकीकरण नहीं है इसलिए अलग अलग साईट पर कुछ नाम अलग हैं कुछ कॉमन हैं. बहरहाल नवग्रह पेड़ों की फोटो यहाँ प्रस्तुत है:

नवगृह वृक्ष 

1. शमी 

2. पीपल 

3. बरगद 
4. गूलर

5. हर सिंगार 
6. बेल पत्र

7. अर्जुन 

8. पिलखन 

9. लटजीरा 






Post a Comment