Pages

Thursday, 19 June 2014

क़िस्सा-ए-पेंशनर

हमारे मोहल्ले में पेंशनर की संख्या लगातार बढ़ रही है । ऐसा लगता है की हिंदुस्तान में सभी लोग पेंशनर होते जा रहे हैं । पिछले दिनों दो और पेंशनर हमारी पंचायत में शामिल हो गए श्री भसीन और श्री गोयल । नियमानुसार दोनों ने तालियों के बीच रैम्प पर चल कर दिखाया मेरा मतलब है की हमारी संस्था को अपना परिचय दिया ।

श्री गोयल छोटे क़द के हैं, मोटा चश्मा पहनते हैं, मोटा सा पेट है और सफ़ारी सूट पहनने के शौक़ीन हैं । सिर के बाल गिनती के बचे हैं जिन्हें बड़े सलीक़े से गंजे सिर पर सज़ाया हुआ है । आवाज भारी है और अंदाज रोबीला है । रोब ज़माने के लिए या बात में वज़न डालने के लिए बात को दो बार बोलते हैं पहले हिंदी में फिर अंग्रेज़ी में । 

श्री गोयल : नमस्कार भाईयों, good afternoon friends ( मीटिंग में सिर्फ़ फ़्रेंड्स थे कोई gf नहीं थी ) । मैं बैंक से पिछले महीने रिटायर हुआ हूँ । बैंक में मैं चीफ़ औडीटर था । I was Chief Auditor in the bank you know.  लगभग बारह साल से ब्रांच औडिट, स्पेशल औडिट और फ्राड वग़ैरा देख रहा था । I was doing special audits & fraud investigations you know. मैं हमेशा अपना काम पक्का रखता था और टाइम से रिपोर्ट देता था । I मेरी रिपोर्ट हमेशा बैंक के चेयरमैन को पेश होती थी और उस पर एक्शन भी लिया जाता था मैंने छह अफ़सर ससपैंड कराए और आठ मेरी रिपोर्ट पर डिसमिस हुए । My report was always put up to the Chairman----

- एक्सक्यूस मी गोयल साब आप को तो रिटायर नहीं करना चाहिए था । बैंकों में तो बहुत फ्राड हो रहे हैं । 
- मेरी फ़ाइल चेयरमैन ने वित्त मंत्री को भेजी थी । You know my file was with FM duly recommended for extension of five years by Chairman.
- ओहो मंत्री भी फ्राड कर गया ?
- जी नहीं । मंत्री जी द्वारा यस होने से पहले चुनाव की घोषणा हो गई । Before FM said yes, unfortunately the general  election was declared you know. 
- तो आपने मिलमिला कर चुनाव पोस्टपोन करा देने थे गोयल साब । 
- भाग्य में जितना लिखा है उतना ही मिलता है जी । God has already drawn the fate lines you know.

अब श्री भसीन की बारी थी । लम्बा क़द, गेहुंआ रंग, सुनहरा चश्मा, गले में सोने की चेन । चेहरे पर हल्की मुस्कान देख कर लग रहा था की बन्दा मस्तराम है और शौक़ीन मिज़ाज हैं । 

श्री भसीन - बात ये है की पहली रिटायरमेंट तो v r s लेने के बाद हुई बैंक से जहाँ मैं मैनेजर था । मेरा फ़ार्मूला था और अब भी है की बाॅस का भी बाॅस होता है । आप बताओ कौन ? याने बाॅस की बीवी । अगर किसी ने सेवा करनी है और मेवा खाना है तो ध्यान रखे मेरी सलाह का मतलब बाॅस के बाॅस का । फिर चाहे आप दफ़्तर से निकल कर 3 से 6 का मैटिनी शो रीगल थेटर में देखो । सूरजकुण्ड के मेले से एक साड़ी ले दो बाॅस के बाॅस को फिर दिल्ली के बाहर ट्रांसफ़र रूक जाएगी । तो दोस्तों बैंक में अपनी तो मज़े में गुज़री । 

फिर एक private नौकरी की दो साल फिर दूसरी नौकरी की तीन महीने । तीसरी नौकरी की तीन साल । और अब हो गया मैं सीनियर सिटीज़न । अब सोचता हूँ की कोई अपना काम शुरू करूँ । 

- भसीन साब आप तो वाक़ई इच्छाधारी हैं जब चाहा नौकरी छोड़ी जब चाहा फिर पकड़ ली । 
- अरे यार ये बताओ की 'भसीन बटर चिकन' कैसा रहेगा ? 
- वाह वाह । आज कोई सैम्पल तो पेश करो जनाब । 
- भसीन साब कोचिंग सेंटर खोलो " बाॅस पटाउ क्लासेस " ।
- भसीन साहब " बाॅस की बीवी पटाउ क्लासें " ठीक रहेगा । 
- भसीन साब क्यूँ न 'भसीन लेडीज़ टेलर' खोल लो ?
- भसीन साब पापड़ वड़ियों का काम ठीक रहेगा । 
- कमबख़्त सारे ही बिगड़े हुए हो । अबे सुधर जाओ वरिष्ठो !

हम किसी से कम नहीं






Post a Comment